बर्फ रोकेगी यूरिनल की तीखी दुर्गन्ध?
इलाहाबाद । बर्फ की सिल्ली अब रेलवे स्टेशनों पर यूरिनल से उठने वाली तीखी दुर्गन्ध को रोकने का काम करेगी। इलाहाबाद जंक्शन पर प्रायोगिक तौर पर इसकी शुरूआत की गई है। सफलता मिली तो इस प्रयोग को मंडल और जोन के अन्य स्टेशनों पर भी अमल में लाया जा सकता है।

रेलवे स्टेशनों पर निर्मित यूरिनल से उठने वाली तीखी दुर्गन्ध यात्रियों को परेशान करती है। मुकम्मल सफाई के अभाव और कुछ यात्रियों के यूरिनल के गलत तरीके से इस्तेमाल से दुर्गन्ध की समस्या लाइलाज बीमारी का रूप लेती जा रही है। समस्या को दूर करने के लिए रेलवे प्रशासन ने साफ-सफाई बढ़ाने के साथ ही अन्य उपायों पर भी अमल किया जिनमें ब्लीचिंग और चूने के छिड़काव के साथ ही फिनायल की गोली और अन्य रसायनों का इस्तेमाल भी किया गया लेकिन यूरिनल से उठने वाली बदबू जस की तस ही रही। ऐसे में उत्तर मध्य रेलवे प्रशासन ने दुर्गन्ध को रोकने के लिए यूरिनल में बर्फ की सिल्ली रखने का नया प्रयोग आरम्भ किया है। सप्ताह भर पहले जंक्शन के सिटी साइड की ओर आफिसर्स रेस्ट हाउस के सामने बने यूरिनल से शुरू किये गये इस प्रयोग के पीछे अफसरों का मानना है कि ठंडी बर्फ यूरिनल से उठने वाली तीखी दुर्गन्ध को सोख कर फैलने से रोकेगी। सूत्रों के मुताबिक यूरिनल की बदबू रोकने को बर्फ का इस्तेमाल रेलवे में तो अभी कहीं नहीं शुरू किया गया है लेकिन दूसरे कुछ देशों में इसका प्रयोग धड़ल्ले से किया जा रहा है। हालांकि यूरिनल की बदबू रोकने की यह मंहगी विधि है क्योंकि बर्फ तेजी से पिघलने के साथ आती भी काफी मंहगी है।

उल्लेखनीय है कि उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक सुदेश कुमार ने जोन के स्टेशनों और रेलवे कालोनियों में साफ-सफाई पर काफी जोर दिया है जिसके तहत हाल ही में कालोनियों में आधुनिक कचरा प्रबंधन तकनीक का इस्तेमाल शुरू करने के अलावा स्टेशनों और ट्रेनों की यांत्रिक साफ-सफाई और धुलाई शामिल है। संभवत: उसी कड़ी में यूरिनल में बर्फ से दुर्गन्ध रोकने का प्रयोग शामिल है।

Posted by
Get the latest news on water, straight to your inbox
Subscribe Now
Continue reading