कोरोना : पीने को पानी नहीं कैसे करें हैंडवाॅश

Submitted by HindiWater on Thu, 04/09/2020 - 07:30
Source
आईनेक्सट, 08 अप्रैल 2020

प्रतीकात्मक तस्वीर।

आईनेक्सट, 08 अप्रैल 2020


एक ओर कोरोना संक्रमण का संकट, दूसरी ओर कई इलाकों में इन दिनों पीने के पानी की दिक्कत। ये हालात दून शहर के दो वार्ड़ों के हैं। ऐसे में इन इलाकों में पिछले एक हफ्ते से स्थानीय लोगों को कोरोना संक्रमण के बीच पीने का पानी नहीं मिल पा रहा है। विभागीय अधिकारी इन इलाकों में ट्यूबवेल में तकनीकी दिक्कत का हवाला देते हुए जल्द व्यवस्थाएं सुधरने का भरोसा दे रहे हैं।

दो वार्डों में पानी की समस्या

इन दिनों वार्ड नंबर 78 व 79 के क्षेत्रवासियों को पानी की समस्या से दो चार होना पड़ रहा है। कई बार विभाग से आग्रह करने के बावजूद जल संस्थान की ओर से ट्यूबवेल सही होने में दस दिन लग गए हैं। ऐसे में मजबूर होकर स्थानीय लोग टैंकर मंगा कर पानी की आपूर्ति कर रहे हैं। वार्ड नंबर 79 के कश्मीरी हाउस की बात करें तो लोग यहां गली-मोहल्लों में रहते हैं। पानी स्टोर करने के लिए टंकी न होने के कारण बाल्टियों में पानी स्टोर किया जाता है। यहां भी दस दिनों से पानी नहीं है। 

गंदगी से परेशान

यहां पानी के कारण घरों में सफाई तक नहीं हो पा रही है। स्थानीय लोग कोरोना महामारी के बीच नहाने तो दूर, हैंडवाॅश तक नहीं कर पा रहे हैं। विभाग की ओर से दो-तीन दिनों से आश्वासन के सिवाए कुछ नहीं मिल रहा है।

टैंकर आते ही दौड़भाग

पानी की समस्या से परेशान लोगों का हाल ये है कि टैंकर आते ही लोग दौड़ पड़ते हैं। ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रख पाना मुश्किल हो रहा है। हालांकि क्षेत्रीय पार्षद की जिम्मेदारी निभाते हुए और कोरोना के खतरे को देखते हुए कुछ लोगों की ड्यूटी भी लगाई गई है। 

रोजाना 15-20 फोन काॅल्स

सरकार आवश्यक सेवाओं में कोई कमी न आने का दावा कर रही है, लेकिन सच्चाई ये है कि अब भी जल संस्थान के काॅल सेंटर पर रोजाना पानी से जुड़ी समस्याओं को लेकर 15 से 20 फोन काॅल्स रिसीव हो रहे हैं।

क्या कहते हैं क्षेत्रवासी

कमल का कहना है कि कोरोना की वजह से पहले ही घर से लोग बाहर नहीं निकल रहे हैं। पानी की कमी के कारण घर तक की सफाई नहीं हो पा रही है। इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा है। पियूष गौड़ का कहना है कि एक ओर बार बार हैंडवाॅश करने के लिए कहा जा रहा है। दूसरी ओर हैंडवाॅश तो दूर पीने तक का पानी नहीं है। ऐसे में हम भला क्या करें। बजरंग अग्रवाल का कहना है कि कोरोना के चलते जहां इमरजेंसी वाले विभागों को सतर्क रहना चाहिए था, वहीं इनके ये हाल हैं कि कभी काम करते हैं और कभी नहीं करते हैं।

क्या कहते हैं अधिकारी

जल संस्थान की जीएम नीलिमा गर्ग का कहना है कि फिलहाल दून में पानी की कोई कमी नहीं है। जितनी खपत है उतनी आपूर्ति है। कुछ इलाकों में दिक्कत है, तो वहां समस्या का जल्द समाधान कर दिया जाएगा। वार्ड नंबर 78 के पार्षद रमेश कुमार मंगू का कहना है कि जल संस्थान के अधिकारियो से बार बार शिकायत करने के बावजूद भी ट्यूबवेल का काम जल्दी नहीं किया जा रहा है। लोगों में आक्रोश है।


 

TAGS

world water day, world water day 2020., corona virus, precautions of corona virus, corona virus india, corona, what is corona virus, corona se kaise bache, bharat mein corona virus, prevention of corona virus in hindi, #coronaindia, corona virus se bachne ke upaay, corona helpline number, corona helpline number india, covid 19, novel corona, how to do hand wash for corona, corona ke liye hath kaise dhoye, corona and water crisis, water crisis due to corona, water crisis in dehradun, water crisis in uttarakhand.

 

Disqus Comment