महिला स्वच्छता गृह के लिए कसी कमर

Submitted by Hindi on Fri, 10/24/2014 - 09:42
Source
एब्सल्यूट इंडिया, 24 अक्टूबर 2014
मुंबई मनपा ने तैयार किया मसौदा

मुंबई मनपा आयुक्त सीताराम कुंटे ने केंद्र सरकार की स्वच्छता मुहिम अंतर्गत मुंबई स्वच्छ करने के सवालों के जवाब में कहा कि अब प्रत्येक शनिवार को एक-एक वार्ड में सफाई अभियान चलाया जाएगा। मुंबई को स्वच्छ और सुन्दर बनाना है तो इसमें सरकारी अधिकारियों, कर्मचारियों और सफाई कर्मचारियों के साथ-साथ जनप्रतिनिधि के अलावा स्थानीय नागरिकों का सहयोग भी जरुरी है।इस अभियान को लागू करने के लिए एक स्वतंत्र मसौदा तैयार किया गया है और इसे प्रभावी तरीके से लागू करने के लिए विशेष प्रयास किया जाएगा। उक्त बातें मनपा आयुक्त सीताराम कुंटे ने कही। महानगरपालिका मुख्यालय में दीवाली के अवसर पर आयोजित स्नेह मिलन कार्यक्रम में पत्रकारों से बातचीत करते हुए मनपा आयुक्त ने कहा कि मुंबई में रहने वाली सभी महिलाओं को स्वच्छता गृह मिले, इसके लिए उन्होंने ‘राइट टू पी नामक अभियान’ की शुरुवात करने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि महिलाओं के लिए काम करने वाली अनेक संस्थाएं और नगर सेविकाओं के साथ-साथ कई जनप्रतिनिधि इसे प्रभावी तरीके से लागू करने और महिलाओं को स्वच्छता गृह की सुविधा उपलब्ध कराने की मांग कर रहे थे। इसके लिए मनपा प्रशासन भी इन लोगों के साथ कई महीनों से संघर्ष कर रहा था, लेकिन अब जाकर सफलता मिलती दिखाई दे रही है।

आयुक्त कुंटे ने आगे कहा कि इसके लिए प्रशासन के साथ अब तक करीब सात बैठकें भी हो चुकी हैं। मुंबई में कई ऐसी जगह हैं, जो केंद्र और राज्य सरकार के अधीन आती हैं। इसलिए राज्य और केंद्र सरकार के जमीन पर शौचालय का निर्माण कराने के लिए पहले उनकी अनुमति लेना जरुरी है। इसके लिए मनपा की तरफ से कार्यवाही जारी है। आयुक्त ने कहा कि मनपा प्रशासन ने भी इस समस्या को गंभीरता से लिया है और एक समिति का भी गठन किया गया है, जोकि मुंबई में किन स्थानों पर प्रशासन गृह की आवश्यकता है और इसके निर्माण के लिए कितनी निधि की जरुरत है, इन बिंदुओं पर काम जारी है। इसकी रिपोर्ट भी अब आ चुकी है और मसौदा भी मनपा की तरफ से तैयार किया जा चुका है। आयुक्त ने बताया कि आने वाले दिनों में इसे प्रभावी तरीके से लागू करने के लिए मनपा प्रशासन तैयारी करने वाला है।

नागरिकों के श्रमदान से ही मुंबई होगी स्वच्छ
मुंबई मनपा आयुक्त सीताराम कुंटे ने केंद्र सरकार की स्वच्छता मुहिम अंतर्गत मुंबई स्वच्छ करने के सवालों के जवाब में कहा कि अब प्रत्येक शनिवार को एक-एक वार्ड में सफाई अभियान चलाया जाएगा। मुंबई को स्वच्छ और सुन्दर बनाना है तो इसमें सरकारी अधिकारियों, कर्मचारियों और सफाई कर्मचारियों के साथ-साथ जनप्रतिनिधि के अलावा स्थानीय रहिवासियों का सहयोग भी जरुरी है। आयुक्त सीताराम कुंटे ने कहा कि जब तक आम नागरिक इसमें अपना हाथ नहीं बटाते तब तक किसी भी योजना को पूरी तरह से अमल में लाना मुश्किल है। इसलिए उन्होंने मुंबई वालों से मुंबई को स्वच्छ और सुन्दर बनाने के लिए श्रमदान की अपील की है।

उन संस्थाओं पर होगी कार्रवाई?
गलिच्छ बस्तियों में सार्वजनिक शौचालय का निर्माण कई निजी संस्थाओं के जरिए भी किया गया है। कई ऐसे भी शौचालय हैं, जिन्हें मनपा प्रशासन ने खुद अपनी निधि से बनवाया है। बाद में उन्हें चलाने के लिए संस्थाओं के सुपुर्द कर दिया गया। शौचालयों में गंदगी और साफ-सफाई न किये जाने की शिकायतें मिलती रहती हैं। इस पर मनपा आयुक्त ने कहा कि अब ऐसा नहीं होगा और जो संस्था इस पर ध्यान नहीं देगी और लापरवाही करेगी उस पर कार्रवाई की जाएगी। इतना ही नहीं मनपा प्रशासन अब घटिया दर्जे का शौचालय बनाने वाले ठेकेदार और संस्था पर भी कार्रवाई करेगी।

एक दिन में 100 ग्रींटिंग
एक दिन में 100 ग्रींटिंग कार्ड पाने से मनपा आयुक्त सीताराम कुंटे खुद अचंभित हो गए। आरटीपी कार्यकर्ता मुमताज शेख का कहना है कि उसने यह ग्रींटिंग मुंबई के स्वच्छतागृहों की दयनीय अवस्था को लेकर साफ-सफाई करा पाने में असफल रहने वाली मुंबई मनपा को भेजे गए। मुमताज शेख का कहना है कि मनपा प्रशासन राइट टू पी पर गंभीर नहीं दिखाई दे रही है। यही कारण है कि कार्यकर्ताओं को मनपा के विरुद्ध इस प्रकार का कदम उठाना पड़ा है। शेख ने कहा कि आयुक्त के अलावा अब कार्यकर्ता, जनप्रतिनिधियों के साथ सबंधित विभाग के अधिकारियों को भी ग्रीटिंग भेजा जाएगा। मनपा के घन कचरा व्यवस्थापन विभाग के उपायुक्त प्रकाश पाटील को भी ग्रीटिंग भेजा गया है।

Disqus Comment