मुंबई की स्वच्छता के लिए पंचवर्षीय प्लान तैयार

Submitted by Hindi on Fri, 10/31/2014 - 12:52
Source
एब्सल्यूट इंडिया, 31 अक्टूबर 2014

. मुंबई स्वच्छता अभियान को अधिक प्रभावी बनाने के लिए मनपा प्रशासन ने पंचवर्षीय नियोजित योजना बनाई है। इस योजना में भीड़-भाड़ वाले इलाकों में 24 घंटे साफ-सफाई किए जाने का प्रावधान किया गया है। बता दें कि गुरुवार को स्थाई समिति की बैठक में कचरा कुंडी उपलब्ध करवाने का प्रस्ताव मंजूरी के लिए आया था। इस दौरान भाजपा सदस्य मनोज कोटक ने कहा कि प्रधामंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए स्वच्छ भारत अभियान मुहिम को आगे बढ़ाने के लिए हरियाणा से मुंबई में सत्संग के लिए आए डेरा सच्चा सौदा के कार्यकर्ताओं ने मुंबई के कई जगहों पर नालों, सड़कों और गली-कुचों की सफाई की, लेकिन उनका सम्मान करने के बजाय मनपा प्रशासन कह रही है कि उनके साफ-सफाई से मनपा के कर्मचारियों पर ही अधिक बोझ पड़ गया है, क्योंकि उन्होंने कचरा बाहर रख दिया है। ऐसे साफ पता चलता है कि मनपा के कर्मचारी और अधिकारी अपने कामों से कामचोरी करते हैं।

कोटक ने ऐसे अधिकारियों और कर्मचारियों पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग की। सपा गुटनेता रईस शेख ने भी मनपा अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा किए बर्ताव को निंदनीय करार दिया और कहा कि ऐसे संस्थाओं को पुरस्कृत करना चाहिए। शिवसेना नगर सेविका डॉ. अनुराधा पेडणोकर ने भी नाराजगी जताई। सदस्यों द्वारा उठाये गए इन सवालों पर उत्तर देते हुए मनपा (शहर) के अतिरिक्त आयुक्त विकास खारगे ने कहा कि मुंबई में स्वच्छता अभियान को प्रभावी तरीके से लागू करने का पंचवर्षीय प्लान तैयार किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक वार्ड में प्रति शनिवार की सुबह 11 बजे से 1 बजे के दरम्यान स्वच्छता मुहिम, श्रमदान का कार्यक्रम शुरू किया जाएगा और भीड़-भाड़ वाले इलाकों में साफ-सफाई की जाएगी। स्वयं सेवी संस्थाओं को इसमें शामिल होने के लिए आह्वान किया जाएगा। अतिरिक्त आयुक्त ने आगे कहा कि इसी प्रकार पर्यटन स्थल, गार्डन, मार्केट की भी सफाई इस कार्यक्रम के तहत की जाएगी।

दुकान के बाहर भी रखना होगा कचरे का डिब्बा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा स्वच्छ भारत अभियान की हुंकार भरने के बाद अब मुंबई मनपा प्रशासन भी सतर्कता बरतते हुए मुंबई की साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देना शुरू कर दिया है। मनपा द्वारा शुरू किए स्वच्छ मुंबई अभियान के अंतर्गत अब एक आदेश निकालकर सभी दुकानदारों को निर्देश दिया गया है कि वे जिस प्रकार दुकान के अंदर कचरे का डिब्बा रखते हैं, उसी प्रकार दुकान के बाहर भी कचरे का डिब्बा रखें। जिससे दूकान के बाहर ग्राहक और अन्य नागरिक भी कचरे के डिब्बे का उपयोग कर सकें। आदेश का पालन न करने वाले दुकानदारों पर कार्रवाई की जाएगी।

कम पड़ गई यंत्रणा मुंबई के कई इलाकों में और गली-कुचों में सच्चा डेरा सौदा द्वारा किए गए साफ-सफाई अभियान में मनपा के अधिकारियों और कर्मचारियों ने भी सहयोग किया। ऐसी जानकारी अतिरिक्त आयुक्त विकास खारगे ने दी। उन्होंने माना कि इस संस्था ने साफ-सफाई तो कर दी, लेकिन उसके द्वारा सड़कों पर एकत्रित कचरों को ठिकाने लगाने के लिए महानगरपालिका प्रशासन की यंत्रणा ही कम पड़ गई। इसका मनपा प्रशासन को खेद है। उन्होंने विश्वास जताया कि आगे इस प्रकार की गलतियां महानगरपालिका प्रशासन से नहीं होंगी।
 

Disqus Comment