राज्य में लगा पानी पर पहरा

Submitted by admin on Fri, 07/25/2014 - 10:35
Source
पत्रिका, 18 जुलाई 2014
सिंचाई के लिए पानी लेने पर रोक लगाई गई है। कैनाल से किसानों ने पाइप लगाकर पानी खींच लिए जाने से दूर तक के गांवों में पानी नहीं मिलने की शिकायत के बाद केवडिया से कच्छ तक एसआरपी जवानों के जिम्मे कैनाल को दे दिया गया है। नर्मदा बांध की सुरक्षा की कमान संभाल रही सीआईएसएफ के स्थान पर सुरक्षा की कमान अब एसआरपी ग्रुप 18 को प्रदान की गई है। एसआरपी के पांच सौ जवान पानी की सुरक्षा के लिए कैनाल के पास पहरा दे रहे हैं। पेयजल समस्या दूर करने के लिए नर्मदा कैनाल में कम मात्रा में पानी छोड़ा जा रहा है। नर्मदा कैनाल से पानी की चोरी रोकने के लिए केवडिया से कच्छ तक कैनाल की सुरक्षा के लिए पांच सौ से ज्यादा एसआरपी के हथियारबंद जवानों को तैनात किया गया है जो कैनाल के पास डेरा तंबू लगाकर पानी की पहरेदारी कर रहे हैं।

प्रदेश में पेयजल समस्या को लेकर कैनाल में छोड़े जा रहे दस हजार क्यूसेक पानी के जत्थे में कमी कर अब सिर्फ चार हजार क्यूसेक पानी ही छोड़ा जा रहा है। कैनाल में सिर्फ पीने के मकसद से ही पानी के छोड़े जा रहे होने से किसान सिंचाई के लिए कैनाल से पानी न ले सके इसके लिए केवडिया से कच्छ तक बनाई गई कैनाल की सुरक्षा में एसआरपी को तैनात कर दिया गया है।

सरदार सरोवर नर्मदा बांध में 366 मिलियन क्यूसेक पानी का जत्था संग्रहित है। सरकार सरोवर बांध में पानी की आवक में कम होने से पानी की सप्लाई में कमी की जा रही है। पहले कैनाल से दस हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा था जिसे कम कर चार हजार क्यूसेक कर दिया गया। यह पानी कैनाल हेड पावर हाउस से छोड़ा जा रहा है।

सिंचाई के लिए पानी लेने पर रोक लगाई गई है। कैनाल से किसानों ने पाइप लगाकर पानी खींच लिए जाने से दूर तक के गांवों में पानी नहीं मिलने की शिकायत के बाद केवडिया से कच्छ तक एसआरपी जवानों के जिम्मे कैनाल को दे दिया गया है। नर्मदा बांध की सुरक्षा की कमान संभाल रही सीआईएसएफ के स्थान पर सुरक्षा की कमान अब एसआरपी ग्रुप 18 को प्रदान की गई है। एसआरपी के पांच सौ जवान पानी की सुरक्षा के लिए कैनाल के पास पहरा दे रहे हैं।

बांध के जलस्तर में आंशिक बढ़ोतरी


मध्य प्रदेश में हो रही बारिश का पानी सरदार सरोवर नर्मदा बांध में आने से बांध के जलस्तर में आंशिक बढ़ोतरी हो रही है। सरदार सरोवर नर्मदा बांध में 21 हजार क्यूसेक पानी की आवक होने से बांध का जलस्तर 114.55 मीटर हो गया।

बढ़ने लगा सरदार सरोवर नर्मदा बांध का जलस्तर


प्रति घंटा एक सेमी की बढ़ोतरी

भरुच. गुजरात की जीवन रेखा माने जाने वाले सरदार सरोवर नर्मदा बांध के जलस्तर में प्रति घंटा एक सेमी की बढ़ोतरी हो रही है। मध्य प्रदेश में हो रही बरसात से बांध का जलस्तर बढ़ने लगा है। बरसात नहीं होने से बांध का जलस्तर कम होने से बिजली उत्पादन बंद कर दिया गया था। मध्य प्रदेश के तवा बांध इलाके में हो रही बरसात से बांध में पानी की आवक होने लगी है। पिछले दिनों नर्मदा बांध का जलस्तर 114.12 मीटर पर आ गया था। बांध का जलस्तर बुधवार को 114.40 मीटर रहा। बांध का जलस्तर प्रतिघंटा एक सेमी की बढ़ रहा है। बांध में पानी की आवक 6582 क्यूसेक हो रही है। उधर मौसम विभाग की ओर से भारी बरसात होने की चेतावनी जारी किए जाने के बाध भरुच जिले का डिजास्टर मैनेजमेंट विभाग सतर्क हो गया है।

ईमेल : surat@atrika.com
Disqus Comment