यमुना किनारे गांवों में होगी पदयात्रा

Submitted by admin on Sun, 09/06/2009 - 12:02

यमुना बचाने की मुहिम में लगी यमुना संरक्षण समिति “गांधी स्वराज पदयात्रा” को यमुना बचाओ पदयात्रा के रूप में करेगी। हरियाणा में यमुना किनारे गांवों में होने वाली पदयात्रा यमुना के मुद्दे पर केन्द्रित होगी।

यमुना के लिए अलख जगाने के लिए हरियाणा के शहर सोनीपत के बड़ौली (नजदीक – बहालगढ़ ) नामक गांव से 10 सितम्बर को यमुना पदयात्रा शुरु की जाएगी। जो पौंटा साहिब में जाकर समाप्त होगी। यह यात्रा यमुना किनारे के गांवों में होगी। यात्रा के दौरान गांव-गांव में रुककर गांव वालों से बात करके उंहें यमुना की समस्याओं के प्रति जागरूक करने की कोशिश की जाएगी।

इस अवसर पर गांव की पंचायतें प्रस्ताव पास करेंगी कि आने वाले चुनावों में गांव वाले उसे ही अपना वोट देंगे जो उनकी यमुना को सदानीरा बनाएगा। अगर यमुना में पानी नहीं ला सकते तो वोट पाने का अधिकार भी नहीं है। यानी- “यमुना में पानी दो और वोट लो” का अलख गांवों में जगाया जाएगा।

यात्रा के दौरान अलग-अलग गांवों से प्रभुत्वशाली और सामाजिक कार्य के लिए तत्पर लोगों को यमुना जल रक्षक के रूप में चिन्हित किया जाएगा।

अलास्का से आए जैफरसन निबल यात्रा का नेतृत्व करेंगे। महावीर त्यागी, मीनाक्षी अरोड़ा, अनिरुद्ध भाई और अन्य विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के लोग इस यात्रा में भाग लेंगे। यमुना के लिए एक यमुना संरक्षण समिति भी बनाई गई है जिसमें प्रमुख रूप से महावीर त्यागी, मदन छौक्कर, शिराज केसर, मीनाक्षी अरोड़ा, रमेश शर्मा व कुछ अन्य सर्वोदयी शामिल हैं।

यात्रा का मुख्य उद्देश्य लोगों में उस विनाश के प्रति जागरूकता लाना है जिससे मानव जाति के विलुप्त हो जाने का संकट पैदा हो गया है।
ग्रामीणों को अपनी सुरक्षा के बारे में जागरूक और प्रेरित करने के लिए यात्रा प्रस्तावित है।
गांव वालों को यमुना के सदानीरा रूप को प्रतिष्ठित करने के प्रति जागरूक करने के लिए है।

आपको याद होगा कि 2009 का वर्ष गांधी जी की पुस्तक हिंद स्वराज का शताब्दी वर्ष है। आज देश और दुनिया के सामने ग्लोबल वार्मिंग, गिरता जल स्तर और पर्यावरण आदि पर जो चौमुखी संकट मंडरा रहा है, उसके समाधान के लिए अनेक विचारक महात्मा गांधी के बताए रास्ते की ओर देख रहे हैं। यह रास्ता गांव और ग्राम-स्वराज्य की ओर जाता है।

इसलिए पदयात्रा गांवों की ओर बढ़ती हुई यह संदेश फैलाने का प्रयास करेगी कि जनता संगठित होकर अपनी व्यवस्था संभाले और अपने प्राकृतिक संसाधनों का सम्मान करते हुए उनकी रक्षा करे।

आयोजक संस्थाएं-
सर्वोदय, सर्व सेवा संघ, गांधी स्मारक निधि, राजस्थान प्रदेश नशाबंदी समिति, राजस्थान खादी ग्रामोद्योग संघ, वाटर कम्युनिटी इंडिया, यमुना संरक्षण समिति

अभियान में जुड़ने के लिए इच्छुक व्यक्ति सम्पर्क करें-

महावीर त्यागी-09416307506
मीनाक्षी अरोड़ा- 09250725116, water.community@gmail.com
 

Disqus Comment