सफलता की कहानी, भाग-5

Submitted by admin on Thu, 10/17/2013 - 15:55
Source
पानी का अर्थशास्त्र (रेवासागर अध्ययन रिपोर्ट)
मैं, कृषक बद्री प्रसाद पिता श्री मुंशीलाल जाति ब्राह्मण ग्राम काछी गुराड़िया विकास खंड सोनकच्छ जिला देवास के कृषक होकर मेरे स्वामित्व में लगभग 5 हेक्टेयर कृषि भूमि है। मेरे द्वारा अपनी निजी भूमि में स्थित नाले पर रेवा सागर तालाब का निर्माण किया जिसमें लगभग 65 से 70 हजार रुपये लागत आयी। उक्त रेवा सागर तालाब वर्तमान में बरसात के पानी से पूरी तरह भर गया जिससे मैं अपनी 5 हेक्टेयर भूमि सिंचाई कर सकूंगा।

इस वर्ष 4 हेक्टेयर में गेहूं तथा 1 हेक्टेयर में चने की बुवाई करूंगा। इससे मेरी आर्थिक स्थिति सुदृढ़ होगी। मैंने मेरे ग्राम व विकास खंड के कृषकों से भी आग्रह किया है, कि वे भी रेवा सागर तालाब का निर्माण करवाएं जिससे भूमिगत जल स्तर को बढ़ाने में सहायता मिलेगी।

बद्री प्रसाद पिता श्री मुंशीलाल, कृषक, ग्राम काछी गुराड़िया, जिला देवास (म.प्र.)

Disqus Comment