नया ताजा

पसंदीदा आलेख

आगामी कार्यक्रम

खासम-खास

Submitted by HindiWater on Fri, 04/10/2020 - 09:35
लाॅकडाउनः कुछ यक्ष प्रश्न
आपातकाल में ही चीजें कसौटी पर रखकर परखी जाती हैं। कुछ लोगों को लगता है कि एक ओर यदि लाॅकडाउन ने सामाजिक सुरक्षा से जुडे अनेक सवालों को रेखांकित किया है तो दूसरी ओर पर्यावरण से सम्बद्ध अनेक प्रश्नों के समाधान के लिए मार्गदर्शन भी दिया है। चलिए कुछ बिन्दुओं पर चर्चा को फोकस करें। 

Content

Submitted by UrbanWater on Fri, 04/10/2020 - 20:08
Source:
सैनिटाइजर यूनिट

फोटो - इंडिया साइंस वायर

नई दिल्ली, 10 अप्रैल (इंडिया साइंस वायर): कोहरा घना हो तो अक्सर दुर्घटना की आशंका रहती है। लेकिन, अब पुणे स्थित राष्ट्रीय रासायनिक प्रयोगशाला (एनसीएल) के परिसर में कोहरे की सूक्ष्म बूंदों का उपयोग कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए किया जा रहा है। संक्रमण से बचाव के लिए विशेष रूप से बनायी गई एक मिस्ट सैनिटाइजर इकाई इस काम को बखूबी अंजाम दे रही है। 

Submitted by HindiWater on Fri, 04/10/2020 - 14:07
Source:
लॉकडाउन में अगर पानी की किल्लत है तो यहां करें फोन
लॉकडाउन अवधि में पानी की किसी भी शिकायत के समाधान के लिए विभिन्न इलाकों में जल संस्थान अधिकारियों की जिम्मेदारी सुनिश्चित कर दी गई है। ईई मनीष सेमवाल, विनोद रमोला, यशवीर मल्ल व राजेन्द्र पाल ने बताया कि शिकायत मिलने के बाद तत्काल उसके समाधान के लिए टीमों को भेजा जा रहा है। अत्याधिक प्रभावित इलाकों में टैंकर से आपूर्ति की जा रही है।
Submitted by HindiWater on Fri, 04/10/2020 - 13:07
Source:
प्रदूषित शहरों में कोरोना से मौत का खतरा ज्यादा
हाल में हार्वर्ड टीएच चैन स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के वैज्ञानिकों के एक शोध ने दुनिया भर की मुश्किलों को बढ़ा दिया है। शोध से ये बात सामने आई है कि जिन शहरों में वर्षों पहले भी पीएम 2.5 का स्तर ज्यादा था, वहां कोविड 19 या कोरोना वायरस के कारण मौत का आंकड़ा बढ़ सकता है। ये अध्ययन अंतराष्ट्रीय जर्नल एनवायर्नमेंटल पोल्युशन में प्रकाशित किया गया है। 

प्रयास

Submitted by HindiWater on Mon, 03/23/2020 - 16:18
कश्मीर के चश्मों की पहचान बचा रहे रिफत
वादी -ए-कश्मीर में चश्मे जो कभी पहचान थे आज वे लुप्त होने की कगार पर हैं, लेकिन इन्हें बचाने के लिये नए कश्मीर के नौजवान आग आए हैं। इनमें पर्यावरण संरक्षक रिफत अब्दुल्ला हैं। मदर टेरेसा अवार्ड से सम्मानित रिफत ने घाटी के जल स्रोतों को बचाने के लिये अभियान छेड़ रखा है। इनमें उनके कुछ दोस्त और स्थानीय लोग मदद कर रहे हैं।

नोटिस बोर्ड

Submitted by HindiWater on Fri, 04/10/2020 - 20:02
Source:
कोरोना से हुए रिवर्स पलायन से निपटने के लिए वेबिनार
पीआरआईए इंटरनेशनल अकादमी दो वेबिनार कराने जा रही है। पहला वेबिनार 11 अप्रैल को सुबह 11 बजे से 12.45 बजे तक होगा, जबकि दूसरा वेबिनार 14 अप्रैल को होगा। पहले वेबिनार का विषय ‘जेंडर इंपेक्ट ऑफ  कोविड 19: रोकथाम और न्यूनीकरण’’ है। जिसमें निम्नलिखित बिंदुओं का शामिल किया गया है।
Submitted by UrbanWater on Thu, 04/09/2020 - 15:00
Source:
कोविड-19 कैसे रहे तैयार: स्फीयर इंडिया कोविड-19 एकेडमी
NDMA, UNICEF, WHO, HCL Foundation और Sphere India ने क्षमता निर्माण की एक संयुक्त पहल की है जिसका नाम है स्फीयर इंडिया कोविड-19 एकेडमी। एकेडमी द्वारा एक ज्ञान सत्र का आयोजन किया जा रहा है। यह सत्र तैयारियों और प्रतिक्रिया के लिए स्वयंसेवकों और आउटरीच (जो सीधे मैदान में जाकर काम कर रहे हैं) कार्यकर्ताओं के लिए है। तिथिः अप्रैल 10, 2020 – शुक्रवार समयः अपराह्न 2 – 3.30
Submitted by UrbanWater on Thu, 04/02/2020 - 16:31
Source:
कोविड-19 और तनाव मुक्ति के लिये नोलेज सत्र
ECHO India और NIMHANs के साथ कोविड-19 (COVID-19) पर एक ऑनलाइन ज्ञान सत्र का आयोजन किया जा रहा है। यह इंटरैक्शन एनजीओ और उनके कर्मचारियों पर केंद्रित है और उम्मीद करते हैं कि इससे लॉकडाउन के दौरान उत्पन्न हुए तनाव से कर्मचारियों को बेहतर तरीके से निपटने में मदद मिलेगी।

Latest

खासम-खास

लाॅकडाउनः कुछ यक्ष प्रश्न

Submitted by HindiWater on Fri, 04/10/2020 - 09:35
Author
कृष्ण गोपाल 'व्यास’
लाॅकडाउनः कुछ यक्ष प्रश्न
आपातकाल में ही चीजें कसौटी पर रखकर परखी जाती हैं। कुछ लोगों को लगता है कि एक ओर यदि लाॅकडाउन ने सामाजिक सुरक्षा से जुडे अनेक सवालों को रेखांकित किया है तो दूसरी ओर पर्यावरण से सम्बद्ध अनेक प्रश्नों के समाधान के लिए मार्गदर्शन भी दिया है। चलिए कुछ बिन्दुओं पर चर्चा को फोकस करें। 

Content

कोहरे की इन सूक्ष्म बूंदों से उपचार रोक सकता है कोविड-19 का विस्तार 

Submitted by UrbanWater on Fri, 04/10/2020 - 20:08
Author
उमाशंकर मिश्र
सैनिटाइजर यूनिट

फोटो - इंडिया साइंस वायर

नई दिल्ली, 10 अप्रैल (इंडिया साइंस वायर): कोहरा घना हो तो अक्सर दुर्घटना की आशंका रहती है। लेकिन, अब पुणे स्थित राष्ट्रीय रासायनिक प्रयोगशाला (एनसीएल) के परिसर में कोहरे की सूक्ष्म बूंदों का उपयोग कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए किया जा रहा है। संक्रमण से बचाव के लिए विशेष रूप से बनायी गई एक मिस्ट सैनिटाइजर इकाई इस काम को बखूबी अंजाम दे रही है। 

लॉकडाउन में अगर पानी की किल्लत है तो यहां करें फोन

Submitted by HindiWater on Fri, 04/10/2020 - 14:07
लॉकडाउन में अगर पानी की किल्लत है तो यहां करें फोन
लॉकडाउन अवधि में पानी की किसी भी शिकायत के समाधान के लिए विभिन्न इलाकों में जल संस्थान अधिकारियों की जिम्मेदारी सुनिश्चित कर दी गई है। ईई मनीष सेमवाल, विनोद रमोला, यशवीर मल्ल व राजेन्द्र पाल ने बताया कि शिकायत मिलने के बाद तत्काल उसके समाधान के लिए टीमों को भेजा जा रहा है। अत्याधिक प्रभावित इलाकों में टैंकर से आपूर्ति की जा रही है।

प्रदूषित शहरों में कोरोना से मौत का खतरा ज्यादा

Submitted by HindiWater on Fri, 04/10/2020 - 13:07
प्रदूषित शहरों में कोरोना से मौत का खतरा ज्यादा
हाल में हार्वर्ड टीएच चैन स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के वैज्ञानिकों के एक शोध ने दुनिया भर की मुश्किलों को बढ़ा दिया है। शोध से ये बात सामने आई है कि जिन शहरों में वर्षों पहले भी पीएम 2.5 का स्तर ज्यादा था, वहां कोविड 19 या कोरोना वायरस के कारण मौत का आंकड़ा बढ़ सकता है। ये अध्ययन अंतराष्ट्रीय जर्नल एनवायर्नमेंटल पोल्युशन में प्रकाशित किया गया है। 

प्रयास

कश्मीर के चश्मों की पहचान बचा रहे रिफत

Submitted by HindiWater on Mon, 03/23/2020 - 16:18
Source
दैनिक जागरण, 23 मार्च 2020
कश्मीर के चश्मों की पहचान बचा रहे रिफत
वादी -ए-कश्मीर में चश्मे जो कभी पहचान थे आज वे लुप्त होने की कगार पर हैं, लेकिन इन्हें बचाने के लिये नए कश्मीर के नौजवान आग आए हैं। इनमें पर्यावरण संरक्षक रिफत अब्दुल्ला हैं। मदर टेरेसा अवार्ड से सम्मानित रिफत ने घाटी के जल स्रोतों को बचाने के लिये अभियान छेड़ रखा है। इनमें उनके कुछ दोस्त और स्थानीय लोग मदद कर रहे हैं।

नोटिस बोर्ड

कोरोना से हुए रिवर्स पलायन और जेंडर इंपेक्ट पर वेबिनार

Submitted by HindiWater on Fri, 04/10/2020 - 20:02
कोरोना से हुए रिवर्स पलायन से निपटने के लिए वेबिनार
पीआरआईए इंटरनेशनल अकादमी दो वेबिनार कराने जा रही है। पहला वेबिनार 11 अप्रैल को सुबह 11 बजे से 12.45 बजे तक होगा, जबकि दूसरा वेबिनार 14 अप्रैल को होगा। पहले वेबिनार का विषय ‘जेंडर इंपेक्ट ऑफ  कोविड 19: रोकथाम और न्यूनीकरण’’ है। जिसमें निम्नलिखित बिंदुओं का शामिल किया गया है।

कोविड-19 कैसे रहे तैयार: स्फीयर इंडिया कोविड-19 एकेडमी

Submitted by UrbanWater on Thu, 04/09/2020 - 15:00
Author
हिंदी इंडिया वाटर पोर्टल
कोविड-19 कैसे रहे तैयार: स्फीयर इंडिया कोविड-19 एकेडमी
NDMA, UNICEF, WHO, HCL Foundation और Sphere India ने क्षमता निर्माण की एक संयुक्त पहल की है जिसका नाम है स्फीयर इंडिया कोविड-19 एकेडमी। एकेडमी द्वारा एक ज्ञान सत्र का आयोजन किया जा रहा है। यह सत्र तैयारियों और प्रतिक्रिया के लिए स्वयंसेवकों और आउटरीच (जो सीधे मैदान में जाकर काम कर रहे हैं) कार्यकर्ताओं के लिए है। तिथिः अप्रैल 10, 2020 – शुक्रवार समयः अपराह्न 2 – 3.30

कोविड-19 और तनाव मुक्ति के लिये नोलेज सत्र

Submitted by UrbanWater on Thu, 04/02/2020 - 16:31
कोविड-19 और तनाव मुक्ति के लिये नोलेज सत्र
ECHO India और NIMHANs के साथ कोविड-19 (COVID-19) पर एक ऑनलाइन ज्ञान सत्र का आयोजन किया जा रहा है। यह इंटरैक्शन एनजीओ और उनके कर्मचारियों पर केंद्रित है और उम्मीद करते हैं कि इससे लॉकडाउन के दौरान उत्पन्न हुए तनाव से कर्मचारियों को बेहतर तरीके से निपटने में मदद मिलेगी।

Upcoming Event

Popular Articles