नया ताजा

पसंदीदा आलेख

आगामी कार्यक्रम

खासम-खास

Submitted by HindiWater on Sat, 09/19/2020 - 17:44
अनुपम मिश्र

आज भी खरे है तालाब अनुपम मिश्र की बहुचर्चित पुस्तक - 02 अध्याय नींव से शिखर तक रमाकान्त राय के संगीतमय अंदाज में

Content

Submitted by HindiWater on Wed, 10/07/2020 - 17:23
Source:
पौड़ी में पाबौ के ग्राम प्रधान हरेंद्र सिंह को सम्मानित करते सीडीओ आशीष भटगाई।
गांधी जयंती  02 अक्टूबर के अवसर पर केंद्र सरकार द्वारा स्वच्छ भारत पुरस्कार 2020 की घोषणा की गई। जिसमें उत्तर प्रदेश और गुजरात जहाँ टॉप पर रहे वही उत्तराखंड के ग्राम पंचायत पाबौ स्वच्छ सामुदायिक शौचालय में तीसरे स्थान पर रहा।
Submitted by HindiWater on Wed, 10/07/2020 - 17:23
Source:
हैवल नदी
उत्तराखण्ड नदियों और प्राकृतिक संपदाओं का राज्य है। प्रदेश में गंगा समेत कई नदियों का उद्गम है। इसके अलावा यहां काफी छोटी छोटी नदियां जंगलों के बीच से बहती है। जिनका बड़ी नदी में प्रवाह बनाये रखने में काफी योगदान रहता है। लेकिन बढ़ते जनंसख्या और ग्लोबल वार्मिंग के कारण ये छोटी-छोटी नादियाँ लुप्त होती जा रही है जिसके कारण मुख्य नदियॉ सूख रही है और उन्हीं नदियों को बचाने के लिए उत्तराखंड वन विभाग द्वारा  कई  कदम उठाये जा रहे है ।
Submitted by HindiWater on Tue, 10/06/2020 - 16:22
Source:
दैनिक जागरण/दिलीप सोनी
जल सहेलियां source - patrika
बुंदेलखंड का एक बहुत बड़ा इलाक़ा पानी की कमी से जूझ रहा है। यहां रहने वाले लोगों को पानी लाने के लिए कई किलोमीटर दूर तक पैदल जाना पड़ता है।  यहां पानी लाने में सबसे ज्यादा दिक्क्तों का सामना यहां की महिलाओं का करना पड़ता है। लेकिन इसी बुंदेलखंड में कुछ ऐसी महिलाएं भी हैं जिन्होंने अपनी मेहनत और  लगन के जरिए इस इलाके की तश्वीर बदलने की कोशिश की है। ये महिलाएं मध्य प्रदेश के छतरपुर, टीकमगढ़, पन्ना, सागर और दमोह के साथ उत्तर प्रदेश के सात जिलों झांसी, महोबा, ललितपुर, हमीरपुर, बाँदा, चित्रकूट और जालौन में नवीन जल संरचनाओं का निर्माण कर रहीं हैं। इन महिलाओं को यहां जल सहेलियों के नाम से जाना जाता है।

प्रयास

Submitted by HindiWater on Tue, 09/22/2020 - 17:33
आजीविका की बदौलत ग्रामीण महिलाओं में सामाजिक बदलाव
मध्यप्रदेश के इंदौर में आजीविका की बदौलत ग्रामीण महिलाओं में सामाजिक बदलाव की सुहानी सूरत देखने को मिल रही है। महिलाओं को संगठित कर राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन उनके हाथों में हुनर सौंप रहा है। उन्हें संसाधन मुहैया करा रहा है। निर्धन परिवारों की महिलाओं के लिए आजीविका नारी सशक्तिकरण की नयी मिसाल बन गई है।

नोटिस बोर्ड

Submitted by HindiWater on Tue, 10/13/2020 - 13:56
Source:
इंडिया रिवर्स वीक
इंडिया रिवर्स वीक ने वर्ष 2020 के लिए भागीरथ प्रयास सम्मान और अनुपम मिश्र मेडल के लिये नामांकन आमंत्रित किये है। भागीरथ प्रयास सम्मान की शुरुआत 2014 में की गई। जिसके जूरी स्वर्गीय श्री रामास्वामी थे
Submitted by HindiWater on Thu, 10/08/2020 - 12:58
Source:
वेबनार
रिवाइटलाइजिंग रेनफेड एग्रीकल्चर नेटवर्क (RRAN) और पीपल साइंस इंस्टिट्यूट (PSI)  हिमांचल प्रदेश के जमीनी अनुभव पर आधारित हिमालयन एरिया में स्प्रिंग शेड मैनेजमेंट पर एक वेबिनार आयोजित कर रहा है। 
Submitted by HindiWater on Wed, 09/30/2020 - 10:41
Source:
पानी रे पानी
कला प्रतियोगिता के नियम 1) इसके दो आयु वर्ग होंगे : . 5 से 8 वर्ष . 9 से 14 वर्ष

Latest

खासम-खास

आज भी खरे है तालाब-अध्याय 2 नींव से शिखर तक संगीतमय वाचन

Submitted by HindiWater on Sat, 09/19/2020 - 17:44
Author
इंडिया वाटर पोर्टल (हिंदी)
aaj-bhi-khare-hai-talab-adhyay-2-neev-se-shikhar-tak-sangitamay-vachan
Source
रमाकांत राय
अनुपम मिश्र

आज भी खरे है तालाब अनुपम मिश्र की बहुचर्चित पुस्तक - 02 अध्याय नींव से शिखर तक रमाकान्त राय के संगीतमय अंदाज में

Content

सुंदर ,सामुदायिक शौचालय की श्रेणी में ये राज्य रहे अव्वल

Submitted by HindiWater on Wed, 10/07/2020 - 17:23
sundar-,samudayik-shauchalay-key-shreni-mein-yeh-rajya-rahe-avval
पौड़ी में पाबौ के ग्राम प्रधान हरेंद्र सिंह को सम्मानित करते सीडीओ आशीष भटगाई।
गांधी जयंती  02 अक्टूबर के अवसर पर केंद्र सरकार द्वारा स्वच्छ भारत पुरस्कार 2020 की घोषणा की गई। जिसमें उत्तर प्रदेश और गुजरात जहाँ टॉप पर रहे वही उत्तराखंड के ग्राम पंचायत पाबौ स्वच्छ सामुदायिक शौचालय में तीसरे स्थान पर रहा।

एक नदी को जिंदा करने के लिये उत्तराखण्ड वन विभाग की एक नई पहल

Submitted by HindiWater on Wed, 10/07/2020 - 17:23
ek-nadi-ko-jinda-karane-kay-liye-uttarakhand-van-vibhag-key-ek-nai-pahal
हैवल नदी
उत्तराखण्ड नदियों और प्राकृतिक संपदाओं का राज्य है। प्रदेश में गंगा समेत कई नदियों का उद्गम है। इसके अलावा यहां काफी छोटी छोटी नदियां जंगलों के बीच से बहती है। जिनका बड़ी नदी में प्रवाह बनाये रखने में काफी योगदान रहता है। लेकिन बढ़ते जनंसख्या और ग्लोबल वार्मिंग के कारण ये छोटी-छोटी नादियाँ लुप्त होती जा रही है जिसके कारण मुख्य नदियॉ सूख रही है और उन्हीं नदियों को बचाने के लिए उत्तराखंड वन विभाग द्वारा  कई  कदम उठाये जा रहे है ।

107 मीटर लंबा पहाड़ काटकर पानी गांव में लाईं  जल सहेलियां

Submitted by HindiWater on Tue, 10/06/2020 - 16:22
107-meter-lanba-pahad-katkar-pani-gaanv-mein-lain-jal-saheliyan
Source
दैनिक जागरण/दिलीप सोनी
जल सहेलियां source - patrika
बुंदेलखंड का एक बहुत बड़ा इलाक़ा पानी की कमी से जूझ रहा है। यहां रहने वाले लोगों को पानी लाने के लिए कई किलोमीटर दूर तक पैदल जाना पड़ता है।  यहां पानी लाने में सबसे ज्यादा दिक्क्तों का सामना यहां की महिलाओं का करना पड़ता है। लेकिन इसी बुंदेलखंड में कुछ ऐसी महिलाएं भी हैं जिन्होंने अपनी मेहनत और  लगन के जरिए इस इलाके की तश्वीर बदलने की कोशिश की है। ये महिलाएं मध्य प्रदेश के छतरपुर, टीकमगढ़, पन्ना, सागर और दमोह के साथ उत्तर प्रदेश के सात जिलों झांसी, महोबा, ललितपुर, हमीरपुर, बाँदा, चित्रकूट और जालौन में नवीन जल संरचनाओं का निर्माण कर रहीं हैं। इन महिलाओं को यहां जल सहेलियों के नाम से जाना जाता है।

प्रयास

आजीविका की बदौलत सामाजिक बदलाव

Submitted by HindiWater on Tue, 09/22/2020 - 17:33
ajivika-key-badoulat-samajik-badlav
आजीविका की बदौलत ग्रामीण महिलाओं में सामाजिक बदलाव
मध्यप्रदेश के इंदौर में आजीविका की बदौलत ग्रामीण महिलाओं में सामाजिक बदलाव की सुहानी सूरत देखने को मिल रही है। महिलाओं को संगठित कर राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन उनके हाथों में हुनर सौंप रहा है। उन्हें संसाधन मुहैया करा रहा है। निर्धन परिवारों की महिलाओं के लिए आजीविका नारी सशक्तिकरण की नयी मिसाल बन गई है।

नोटिस बोर्ड

भागीरथ प्रयास सम्मान  2020 के लिए नामांकन आमंत्रित 

Submitted by HindiWater on Tue, 10/13/2020 - 13:56
indiya-rivers-vik-ney-bhagidrath-prayas-samman-2020-kay-liye-namankan-amantrit-kiye-hai
इंडिया रिवर्स वीक
इंडिया रिवर्स वीक ने वर्ष 2020 के लिए भागीरथ प्रयास सम्मान और अनुपम मिश्र मेडल के लिये नामांकन आमंत्रित किये है। भागीरथ प्रयास सम्मान की शुरुआत 2014 में की गई। जिसके जूरी स्वर्गीय श्री रामास्वामी थे

हिमालयन एरिया में स्प्रिंग शेड मैनेजमेंट पर वेबिनार

Submitted by HindiWater on Thu, 10/08/2020 - 12:58
himalyan-aria-mein-spring-shade-management-par-webnar
वेबनार
रिवाइटलाइजिंग रेनफेड एग्रीकल्चर नेटवर्क (RRAN) और पीपल साइंस इंस्टिट्यूट (PSI)  हिमांचल प्रदेश के जमीनी अनुभव पर आधारित हिमालयन एरिया में स्प्रिंग शेड मैनेजमेंट पर एक वेबिनार आयोजित कर रहा है। 

पानी रे पानीअभियान के तहत गांधी जयंती के अवसर पर आयोजित कला प्रतियोगिता

Submitted by HindiWater on Wed, 09/30/2020 - 10:41
pani-ray-paniabhiyan-kay-tahat-gandhi-jayanti-kay-avsar-par-ayojit-kala-pratiyogita
पानी रे पानी
कला प्रतियोगिता के नियम 1) इसके दो आयु वर्ग होंगे : . 5 से 8 वर्ष . 9 से 14 वर्ष

Upcoming Event

Popular Articles